Wednesday, October 24, 2018

jaipur- the pink city

अल्बर्ट हॉल - जयपुर की शानदार धरोहरों में से एक है । ये एक म्यूजियम भी है जिसमें एक ममी भी रखी है ।
अल्बर्ट हॉल की नींव 1876 में महाराजा रामसिंह द्वितीय के राज्यकाल में प्रिंस अल्बर्ट ने रखी थी
सर एडवर्ड ब्रेडफोर्ड ने 1887 में इसका उद्घाटन किया। इसे बनाने में उस वक्त 5,01,036 रूपये खर्च हुए थे ।
अल्बर्ट हॉल राजपथ पर है । ये चारों ओर रामनिवास बाग नाम के एक विशाल बगीचे से घिरा है ।
जयपुर का बापू बाजार काफी मशहूर है ।
बापू बाजार में राजस्थानी पारंपरिक हस्तशिल्प के तकरीबन सभी सामान मिलते हैं ।
बापू बाजार की बनावट मध्यकालीन राजपूत शैली की है ।
बापू बाजार शाम के समय बेहद सजीला लगता है ।
शाम ढ़लते ही बापू बाजार की रौनक देखते ही बनती है ।
ताड़केश्वर नाथ मंदिर
चौदह रास्ता पर ताड़केश्वर महादेव का मंदिर है । ये मंदिर मध्यकालीन हवेली के स्वरूप का है।
ताड़केश्वर मंदिर परिसर में नंदी जी भी विराजमान हैं लेकिन विराजमान मुद्रा में नहीं ।